[फॉर्म] मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना मध्यप्रदेश 2020| ऑनलाइन अप्लाई

मेधावी छात्र योजना 2020|मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना 2020|मेधावी छात्र पुरस्कार योजना MP 2020|मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना मध्यप्रदेश 2020|medhavi chhatra yojana mp 2020 last date|medhavi chhatra yojana mp 2020

आज हम आपके लिए मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना 2020 की जानकारी साझा करने जा रही हैं|इस योजना के अंतर्गत जिन विद्यार्थियों ने माध्य‍मिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित 12वीं की परीक्षा में 70 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किये हों अथवा सीबीएसई/आईसीएसई द्वारा आयोजित 12वीं की बोर्ड परीक्षा में 85 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किये हों|ऐसे विद्यार्थियों को निम्नांकित स्नातक स्तर की शिक्षा के पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्राप्त करने पर मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना के अंतर्गत शिक्षण शुल्क राज्य् शासन द्वारा वहन किया जायेगा। योजना के अंतर्गत स्नातक स्तर हेतु व्यय शुल्क के रूप में, प्रवेश शुल्क एवं वह वास्तविक शुल्क (मेस शुल्क एवं कॉशन मनी को छोड्कर) जो शुल्क विनियामक समिति अथवा म0प्र0 निजी विश्वीविद्यालय विनियामक आयोग अथवा भारत सरकार/राज्य शासन द्वारा निर्धारित किया गया हैं, का ही भुगतान किया जायेगा।

मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना 2020-21” के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित कर रही है। सीबीएसई (CBSE) में 85% से अधिक अंक या माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (MPBSE) में 70% से अधिक अंक प्राप्त करने वाले सभी मेधावी छात्र मेधावी योजना 2020 पंजीकरण के लिए पात्र हैं। ऐसे सभी छात्रों के लिए, राज्य सरकार स्नातक स्तर तक पूर्ण प्रवेश शुल्क और पाठ्यक्रम शुल्क प्रदान करेगी।इस योजना के तहत राज्य के माधवी छात्राओं को स्नातक स्तर पर शिक्षा प्राप्त करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी |भी इच्छुक लाभार्थियों को इस योजना के तहत अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा | यह रजिस्ट्रेशन मेधावी विद्यार्थी योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और योजना का लाभ उठा सकते है |

Read more[फॉर्म] मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना मध्यप्रदेश 2020| ऑनलाइन अप्लाई

[लिस्ट] सुपर 5000 योजना एमपी:super 5000 yojana 2019 list mp

super 5000 yojana 2020 ki list”super 5000 yojana 2020 list”super 5000 yojana 2020 new list”super 50 yojana 2020″

मध्य प्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल द्वारा पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के मेधावी बच्चों को सुपर 5000 योजना के तहत 25 हजार रुपए से पुरस्कृत किया जाएगा।मिकों के बच्चे भी उच्च शिक्षा ग्रहण करें। सुपर 5000 योजना में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के 10वीं और 12वीं के मेधावी छात्र लाभान्ति होंगे। राज्य की मेरिट में मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मण्डल की 10वीं और 12वीं की परीक्षा में प्रथम 5-5 हजार यानी कुल 10 हजार श्रमिक पुत्र-पुत्री को 25-25 हजार रूपये का हित लाभ दिया जायेगा। श्रमिकों की कठिनाई को दूर करने के लिए अन्य हितग्राहीमूलक योजनाओं में भी संशोधन किए जा रहे हैं।

सहायक श्रम आयुक्त ने बताया कि इस संबंध में श्रमिकों के 10वीं और 12वीं पास विद्यार्थियों से आवेदन मंगाए गए हैं। 2013 से संचालित इस योजना के तहत कक्षा 10वीं और 12वीं के सुपर 5-5 हजार बच्चों का चयन कर उन्हें 25 हजार रुपए की राशि से पुरस्कृत किया जाता है। योजना के तहत माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा वर्ष 2018-19 की प्रथम सुपर-5000 कक्षा 10वीं के विद्यार्थियों की सूची एवं सुपर-5000 12वीं के विद्यार्थियों की सूची जारी की गई है।

Read more[लिस्ट] सुपर 5000 योजना एमपी:super 5000 yojana 2019 list mp

एमपी कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना”mp Mukhya Mantri Karmchari Swasthya Bima yojana

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना”एमपी मुख्यमंत्री कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना”कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना”Mukhya Mantri Karmchari Swasthya Bima Yojana”mp Karmchari Swasthya Bima yojana”

मध्य प्रदेश (एमपी)  राज्य मंत्रिमंडल ने अपने मुख्यमंत्री (सीएम) के नेतृत्व में, कमलनाथ ने 1 अप्रैल, 2020  से सभी 12.55 लाख कर्मचारियों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री स्वास्थ्य स्वास्थ्य बीमा योजना (मुख्यमंत्री कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना ) लागू करने  को मंजूरी दे दी है।इसके अलावा सेवानिवृत्त कर्मचारी भी योजना में शामिल रहेंगे। इसके तहत साधारण बीमारी के लिए 5 लाख और गंभीर बीमारी के लिए 10 लाख रु. तक कैशलेस इलाज की सुविधा मिलेगी।‘इस योजना से लगभग 12.55 लाख कर्मचारी एवं अधिकारी लाभांवित होंगे, जिनमें 4,91,666 सेवानिवृत्त कर्मचारी शामिल हैं। इस योजना को लागू किये जाने से 756.54 करोड़ रूपये का वार्षिक वित्तीय भार आएगा।

मुख्यमंत्री कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना में बाह्य रोगी (ओपीडी) के रूप में प्रतिवर्ष 10,000 रूपये तक का नि:शुल्क उपचार अथवा नि:शुल्क दवाओं का वितरण किया जाएगा। सामान्य उपचारों के लिए प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये और गंभीर उपचारों के लिए 10 लाख रूपये तक की नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा प्राप्त होगी। सिलावट ने बताया कि 10 लाख रूपये से अधिक के उपचार के लिए राज्य स्तरीय मेडिकल बोर्ड द्वारा विशेष अनुमति दी जा सकेगी।

Read moreएमपी कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा योजना”mp Mukhya Mantri Karmchari Swasthya Bima yojana